Kutte Ki Pooja: भारत का एक ऐसा राज्य जहाँ पर भगवान् के रूप में होती है कुत्ते की पूजा

Kutte Ki Pooja: आपने अक्सर देखा होगा कि लोग भगवान के रूप में पत्थर की या किसी जानवर, जैसे गणेश भगवान के रूप में हाथी और गौमाता यानी गाय की पूजा करते है लेकिन आज हम भारत के एक ऐसे राज्य के बारे में बात करने वाले हैं जहां के लोग भगवान के रूप में कुत्ते की पूजा करते हैं। वैसे तो कुत्ता एक वफादार जानवर होता है जो घर की देखभाल के साथ साथ अपने मालिक का भी देखभाल करता है। लेकिन आप लोगों ने शायद ही कभी यह सुना या देखा होगा कि भगवान के रूप में लोग कुत्ते की भी पूजा करते है, इसके पीछे की सच्चाई जान करके आप लोगों को काफी ज्यादा हैरानी होगी लेकिन यह सच्चाई है कि एक जगह ऐसा भी है जहां के लोग कुत्ते की मूर्ति बनाकर भगवान के रूप में उसकी पूजा करते है। आईए जानते है कि भारत के किस राज्य के लोग कुत्ते की पूजा करते हैं और क्या है Kutte Ki Pooja कुत्ते की पूजा करने के पीछे की वजह-

भारत के कर्नाटक, छत्तीसगढ़ सहित अन्य कई राज्यों में होती है कुत्ते की पूजा

आप लोगों को यह जानकर हैरानी होगी कि कुत्ते की पूजा सिर्फ भारत देश ही नहीं बल्कि कई अनेक देशों में होती है। हालांकि भारत देश के कर्नाटक राज्य में स्थित चन्नापटना शहर के लोग कुत्ते की मंदिर बनाकर की कुत्ते की मूर्ति स्थापित करते हैं और इस श्रद्धा भाव से पूजते हैं। जानकारी के लिए आप लोगो को बता दें कि इस मंदिर को नाई देवस्थान के नाम से जाना जाता है, जिसमें नाई का अर्थ कुत्ता होता है।

Kutte Ki Pooja
Kutte Ki Pooja

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आप लोगो को बता दें कि कर्नाटक राज्य के चन्नापटना शहर वासियों का यह मानना है कि कर्नाटक राज्य में जहां पर यह मंदिर स्थापित की गई है वहां पर केमपम्मा देवी की मंदिर बनने वाली थी। लेकिन जब इस मंदिर का निर्माण शुरू होने लगा तब इस मंदिर में दो कुत्ते आकर रहने लगे, जिसकी गांव वालों ने खूब सेवा की और जब मंदिर का निर्माण कार्य पूरा हो गया तब वह दोनों कुत्ते उस मंदिर से गायब हो गए। तभी से कर्नाटक के चन्नापटना शहरवासियों द्वारा कुत्तों की मूर्ति का निर्माण करके उसे मंदिर में कुत्तों की मूर्ति स्थापित कर दी गई। तब से लेकर आज तक वहां के लोग कुत्ते की पूजा करने लगे और उन्हें ही अपना भगवान मानने लगे। कहा जाता है कि जो भी भक्त सच्चे मन से इस मंदिर में आकर की कुत्तों की पूजा-अर्चना करता है उसकी मनोकामना जल्द ही पूरी होती है।

Frog Farming: एक ऐसा देश जहाँ के लोग मेंढक की खेती करके कमाते है लाखो रुपये, बनाते है मेंढक की सब्जी

 

इसके अलावा छत्तीसगढ़ राज्य में भी कुत्ते की पूजा की जाती है। छत्तीसगढ़ राज्य के दुर्ग जिले में स्थित खपरी गांव के लोग मंदिर बनाकर कुत्ते की मूर्ति स्थापित करके सच्ची मन से कुत्ते की पूजा करते हैं हालांकि कुत्ते की यह मंदिर कुकुर देव के नाम से भी जानी जाती है।

भारत के आलावा नेपाल में भी की जाती है कुत्ते की पूजा

Kutte Ki Pooja
Kutte Ki Pooja

भारत के अलावा नेपाल में भी कुत्तों की पूजा की जाती है जिस तरह से भारत देश में दिवाली के दिन लक्ष्मी और कुबेर की पूजा की जाती है ठीक उसी तरह नेपाल में दिवाली को तिहाड़ के नाम से जाना जाता है इस दिन नेपाल के लोग 5 दिन तक कुत्ता सहित कौवा, बैल और गए की भी पूजा करते हैं, इस दिन कुत्ते को गले में फूलो की माला पहना कर और टीका लगा के पूरी सच्चे मन से पूजा करते हैं। नेपाल के लोगों का यह मानना है कि कुत्ते यह देवता के संदेशवाहक होते हैं एवं कुत्ते करने के बाद भी लोगों की रक्षा करते हैं इसीलिए नेपाल के लोग कुत्तों की पूजा करते हैं ताकि उनका आशीर्वाद नेपाल के लोगों पर हमेशा बना रहे, नेपाल और भारत के साथ-साथ ऐसे कई देश और कई राज्य हैं जहां पर कुत्ते जैसे विभिन्न प्रकार के जानवरों की पूजा की जाती है।

🔥✅ ताज़ा जानकारी के लिए हमारे टेलीग्राम में जुड़े-👉 Click Here 
🔥 ✅ Whatsapp –👉 Click Here
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment