भगवान राम और उनके वानर सेना द्वारा बनाया गया पुल जो आज भी है मौजूद - नई भारत भगवान राम और उनके वानर सेना द्वारा बनाया गया पुल जो आज भी है मौजूद - नई भारत

भगवान राम और उनके वानर सेना द्वारा बनाया गया पुल जो आज भी है

Image Credit -Social Media

राम सेतु, जिसे एडम्स ब्रिज भी कहा जाता है, भारत के तमिलनाडु के दक्षिण-पूर्वी तट पर पंबन द्वीप और श्रीलंका के उत्तर-पश्चिमी तट पर मन्नार द्वीप के बीच प्राकृतिक चूना पत्थर की एक श्रृंखला है. यह पुल 30 मील (48 किमी) लंबा हैं.

Image Credit -Social Media

रामायण काल में, भगवान श्री राम ने अपनी पत्नी सीता को रावण के साम्राज्य लंका से वापस लाने के लिए वानर सेना की मदद से इस पुल का निर्माण किया था. यह पुल पांच दिनों में बन गया था. इसकी लंबाई 100 योजन और चौड़ाई 10 योजन थी.

Image Credit -Social Media

पहले दिन 14 योजन, दूसरे दिन 20 योजन, तीसरे दिन 21 योजन, चौथे दिन 22 योजन और पांचवें दिन 23 योजन का काम पूरा किया गया था 

Image Credit -Social Media

 आज के गणना के हिसाब से इस पुल की लंबाई 1200 किलोमीटर थी.  जिसे मात्र पांच दिनों में  बनाया गया था जो आज के समय में नामुमकिन ही नहीं बल्कि असंभव हैं.

Image Credit -Social Media

राम सेतु को लेकर कई नाम हैं, जैसे: राम सेतु, एडम्स ब्रिज, नाला सेतु, सेतु बांध| 

Image Credit -Social Media

राम सेतु को लेकर हिंदू और मुस्लिम दोनों धर्मों की पौराणिक कथाओं में इसका जिक्र किया गया है. हिंदू महाकाव्य रामायण में, नल को राम सेतु का इंजीनियर माना जाता हैं .

Image Credit -Social Media

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि नल और नील दो भाई थे यह दोनों भाई बहुत ही बचपन में शरारत किया करते थे इसी के चलते एक महात्मा ने इन्हें श्राप दिया था कि तुम लोग पानी में कोई भी वस्तु डालोगे तो वह डूबेगा नहीं इसी श्राप  की वजह से इस पुल का निर्माण किया गया  था.

Image Credit -Social Media

भगवान राम और उनके वानर सेना द्वारा बनाया गया हैं पुल आज भी मौजूद है लेकिन किसी समुद्री विनाश के कारण यह पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है और समुद्र में डूब गया  हैं ,

Image Credit -Social Media